Download

College
Info

Admission
Enquiry

Play
Store

दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी ‘‘रिसर्च एण्ड इनोवेशन इन एप्लाईड साइंस’’ का आयोजन

Posted By - Media Admin On - Sat 22,Dec 2018

दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी ‘‘रिसर्च एण्ड इनोवेशन इन एप्लाईड साइंस’’ का आयोजन
संगम विश्वविद्यालय में दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी ‘‘रिसर्च एण्ड इनोवेशन इन एप्लाईड साइंस’’ का आयोजन।  
 
संगम विश्वविद्यालय, भीलवाड़ा में स्कूल आॅफ बेसिक एण्ड अप्लाईड साइंस के तत्त्वाधान में दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठि ‘‘रिसर्च एण्ड इनोवेटिव ट्रेंड्स इन एप्लाईड साइंस 2018’’ का आयोजन 22-23 दिसम्बर को किया जा रहा है। इस संगोष्ठि में देश भर से विज्ञान एवं कलाक्षेत्र के प्रतिष्ठित प्रोफेससर्् एवं शोधार्थी, हिस्सा ले रहे हैं। इस संगोष्ठि का उद्घाटन अन्तर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त भौतिक शास्त्री प्रोफेसर श्याम लाल काकानी एवं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर के. पी. यादव ने माँ सरस्वती को माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया। 
 
प्रोफेसर काकानी ने विज्ञान के संदर्भ में 21वी सदी में नैनो तमनीक द्वारा विकास की संभावनाओं पर अपने विचचार व्यक्त करते हुए बताया कि नैनो तकनीक का उपयोग हाई टेक उत्पादों जैसे इलैक्ट्रोनिक डिवाइस, एरोस्पेस, आॅटोमोबाइल के अतिरिक्त ग्लोबल प्रोब्लम्स जैसे क्लीनर एनर्जी, बेहतर कृषि उत्पादन सुरक्षित पीने के पानी के समाधान उपयोगी बताया। 
 
कुलपति प्रोफेसर के.पी.यादव ने अपने स्वागत उद्बोधन में विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों से आए प्रतिभागियों का स्वागत किया एवं बेसिक एण्ड अप्लाइड साइंस के विभिन्न संकायों में होने वाले रिसर्च एवं इनोवेटिव ट्रेण्ड्स पर अपने विचार व्यक्त करते हुए देश व समाज के आर्थिक विकास के इसकी उपयोगिता एवं भागीदारी पर प्रकाश डाला। 
 
इस संगोष्ठी की कनवीनर डिप्टी डीन अप्लाइड साइंस डाॅ. प्रीति मेहता ने बताया कि इस काॅन्फ्रेंस में में विभिन्न संस्थानों के लगभग 100 से अधिक शोधार्थी, प्रोफेसर, एवं छात्र-छात्राएँ भाग  ले रहे हैं। इसका मुख्य उद्धेश्य युवा शोधार्थियों, अनुभवी प्रोफेसर्स एवं वैज्ञानिकों को अपने द्वारा किए गए शोधों, ज्वलंत समस्याओं, नई तकनीकों के विकास एवं नई विचारधाराओं पर अपने विचार व्यक्त करने एवं विचारों के आदान-प्रदान के लिए एक उपयोगी मंच प्रदान करना है। 
 
डिप्टी डीन रिसर्च डाॅ. हरीश नागर (गणित) ने विद्यार्थियों को नेशनल गणित दिवस की शुभकामनाएं दी तथा सभी को पर रामानुजन जी के जीवन परिचय पर व्याख्यान दिया तथा प्रोक्टर प्रोफेसर राजीव मेहता ने उद्घाटन समारोह के समापन पर सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। 
 
दो दिवसीय संगोष्ठि ने पेपर प्रजेन्टेशन के लिए विभिन्न सेशंस आयोजित किए जा रहे है। प्रथम सेशन के मुख्य वक्ता प्रोफेसर पिंकी बाला पंजाबी (रसायन शास़्त्री) ने एडवांस आक्सीडेशन प्रोसेस एण्ड एप्लीकेशन्स (इफेक्टिव टेक्नोलाॅली फाॅर पोल्युशन कन्ट्रोल) एवं प्रो. बी. एल. जागेटिया (वनस्पतिशास्त्री) बोटनिकल मेथड्स आॅफ एक्सप्लोरेशन एण्ड प्रोस्पेक्टिंग फाॅर प्रिशियस मिनरल्स पर अपने विचार व्यक्त किए 23 दिसम्बर को द्वितीय सेशन ‘पोस्टर प्रदर्शनी’ में शोधार्थी एवं छात्रों ने पोस्टर द्वारा अपने विचार व्यक्त किए। संगोष्ठी के आयोजन में डाॅ. पूनम माहेश्वरी, सीमा काबरा, विक्रम भाटी, डाॅ. नीधि भटनागर, टीना कवर, एवं समस्त अप्लाइड साइंस के शिक्षकगण का महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। प्रोफेसर संजय जैन (गणितज्ञ) ने मेथेमेटिकल माॅडलिंग फार लिनियर एवं नाॅन लिनियर प्रोग्रामिंग एवं प्रो, एस के शर्मा जी ने आॅरगेनिक एग्रीकल्चर फाॅर एवीविंग सस्टेनेबल फूड सिस्टम इल 21वी सेन्चुरी पर अपना व्याख्यान देंगे।